कांग्रेस पार्टी से बगावत पर उतरा यह नेता, जिलाध्यक्ष तो क्या प्रदेशाध्यक्ष तक के निर्देशों की कर रहा अवहेलना, जानिए पूरा मामला

अर्थ न्यूज. जालोर

राजस्थान विधानसभा चुनाव में अभी तक कुछ महीने बचे है, लेकिन जालोर जिले की कांग्रेस में वर्चस्व को लेकर घमासान शुरू हो चुका है। प्रदेश कांग्रेस की ओर से जारी किए गए आदेशों के विपरीत भीनमाल विधानसभा में एक नेता ने तो बगावत का बिगुल बजा दिया है। प्रदेश कांग्रेस के निर्देशों के खिलाफ भीनमाल विधानसभा क्षेत्र से यह नेता रैली का आयोजन कर आदेशों की अवहेलना कर रहा है।

अचानक गायब हुई हिंदू युवती, पुलिस जांच करने कश्मीर पहुंची तो उड़े परिजनों सहित पुलिस के होश

प्रदेशाध्यक्ष के निर्देश के बावजूद निकाल रहा रैली

हाल ही में 28 मार्च को कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष सचिन पायलट ने एक आदेश जारी किया था, जिसमें स्पष्ट किया था कि किसी भी जिले में चुनावों को लेकर कोई भी पार्टी कार्यकर्ता कार्यक्रम का आयोजन या कोई अभियान शुरू करता है तो उसके लिए ब्लॉक स्तर, जिला स्तर और प्रदेश स्तर से अनुमति आवश्यक लेनी होगी। इसे गंभीरता से नहीं लेने पर पार्टी अनुशासनहीनता की कार्रवाई भी करेगी। भीनमाल विधानसभा क्षेत्र से बगावती तेवर दिखाते हुए युवक कांग्रेस प्रदेश महासचिव ऊमसिंह राठौड़ चांदराई ने भीनमाल विधानसभा क्षेत्र में 2 अप्रेल से जनसंपर्क यात्रा शुरू करने का ऐलान किया है, लेकिन इस बारे में न तो ब्लॉक स्तर से अनुमति ली गई है और न ही जिला कांग्रेस पार्टी से अनुमति ली। इस बारे में स्वयं प्रदेश युकां महासचिव से पूछने पर उन्होंने भी स्पष्ट कहा कि पार्टी का कोई कार्यक्रम नहीं है, मेरी व्यक्तिगत यात्रा है, इसमें जिलाध्यक्ष से पूछने का कोई मतलब भी नहीं है।

सीधी सट्ट बात : भाजपाइयों में सत्ता का नशा खुमारी मार रहा या संगठन में वर्चस्व के लिए आपस में लड़ रहे

Um Singh

पिछले चुनाव में हार का सामना करना पड़ा था ऊमसिंह को

ऊमसिंह राठौड़ के बगावती तेवर अपनाने के पीछे वजह यह है कि बीते विधानसभा चुनाव वर्ष-2013 में कांग्रेस पार्टी ने ऊमसिंह राठौड़ को पार्टी ने भीनमाल विधानसभा से टिकट दिया था, लेकिन राठौड़ चुनाव में बड़े अंतर से हार गए थे। भीनमाल में वर्ष-1998 से कांग्रेस से डॉ. समरजीतसिंह दावेदार रहे हैं। प्रत्याशी के आधार पर ही इस बार भी ऊमसिंह खुद को भीनमाल से दावेदार के रूप में मानते हुए यह रैली निकाल रहा हैं, लेकिन भीनमाल से दो बार विधायक रहे डॉ. समरजीतसिंह अब कांग्रेस के जिलाध्यक्ष है। ऐसे में डॉ. सिंह स्वयं भीनमाल से दावेदार है।

3 पंचायतों पर एमएलए ने बरसाए 2 करोड़, 11 को 1 रुपया तक नहीं दिया

बोले निजी यात्रा, लेकिन पेंपलेट में निवेदक कांग्रेस पार्टी लिखा

ऊमसिंह का कहना है कि ये उनकी निजी यात्रा है, पार्टी की नहीं है, लेकिन प्रचार-प्रसार के लिए जो पेंपलेट उपयोग में किए जा रहे हैं, उसमें पार्टी का हवाला देते हुए निवेदक कांग्रेस पार्टी को बताया गया है। जिसमें गहलोत व पायलट के फोटो तो हैं, लेकिन जालोर जिले से किसी भी कांग्रेसी का फोटो शामिल नहीं है। ऊमसिंह की प्रचार सामग्री के अनुसार जनसंपर्क यात्रा 2 अप्रेल से भालनी से शुरू होगी जो कई गांवों में चलेगी। वहीं रात को भीनमाल नगरपालिका क्षेत्र के वार्ड 15 में रात को सभा होगी।

आम जनता के विकास के लिए मिलने वाले रुपए में से 75 लाख रुपए जालोर विधायक ने कुछ इस कदर बांटे, जानिए, कहां कितना खर्च किया

सवाल यह कि क्या पार्टी से बढ़कर है इनकी रैली

ऊमसिंह राठौड़ की ओर से आयोजित रैली को वह निजी बता रहे हैं, लेकिन सवाल यह है कि जब पार्टी ने ही किसी तरह के आयोजन नहीं करने को लेकर स्पष्ट निर्देश दे रखे हैं तो फिर यह रैली क्यों? ऊमसिंह इस बार भीनमाल से टिकट लेना चाहते हैं, लेकिन उन्हें यह नहीं पता कि इस बार उनको टिकट नहीं मिलेगा। गत विधानसभा चुनाव में उन्हें एक तरह से भीनमाल में मोहरा बनाकर पेश किया था, लेकिन इस बार किसी तरह की गुंजाइश नहीं है उन्हें टिकट मिले। इसके बावजूद वे भीनमाल में रैली निकालकर लोगों के सामने खुद को पेश करना चाहते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Page generated in 0.565 seconds. Stats plugin by www.blog.ca