जालोर सीएमएचओ की मिलीभगत से चल रहा लोगों की जान से खिलवाड़ का अवैध धंधा

अर्थ न्यूज. जालोर

जालोर शहर सहित जिलेभर में गांव-गांव बैठे नीम हकीमों के खिलाफ चिकित्सा विभाग किसी तरह की कार्यवाही नहीं कर रहा है। इसके पीछे मुख्य वजह सीएमएचओ डॉ. बाबूलाल विश्नोई की मिलीभगत सामने आई है। सीएमएचओ डॉ. विश्नोई की मिलीभगत के कारण जिलेभर के नीम-हकीम खुलेआम बेखौफ होकर लोगों की जान से खिलवाड़ कर रहे हैं। कार्यवाही होना तो दूर नीम-हकीम तो यहां तक कह रहे हैं कि हर महीने निर्धारित राशि पहुंच जाती है, इसलिए कोई कार्यवाही नहीं करेगा।

हर माह पहुंचती है राशि

गांव-गांव में बैठे नीम-हकीमों के खिलाफ मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बाबूलाल विश्नोई की ओर से किसी तरह की कार्यवाही नहीं की जा रही है। जब से विश्नोई ने कार्यभार संभाला है, उसके बाद से तो नीम-हकीमों के खिलाफ बाकायदा कार्यवाही होना ही बंद हो गई है। एक नीम-हकीम ने बताया कि सीएमएचओ कार्यालय में हर महीने निर्धारित राशि पहुंचा दी जाती है या फिर उनका आदमी स्वयं ही राशि लेने आ जाता है। जिसके कारण कोई कार्यवाही नहीं की जाती है।

लोगों की मौत हो गई, पर कार्यवाही नहीं

गांव-गांव में बैठे नीम-हकीमों ने गलत उपचार करके कई लोगों की जान तक ले चुके हैं। जालोर में भी चार से अधिक ऐसे मामले सामने आ चुके हैं, जिसमें नीम-हकीमों के गलत उपचार के कारण मौत हो चुकी है, लेकिन कार्यवाही नहीं हो रही है। चिकित्सा विभाग के पास हर गांव में बैठे नीम-हकीम की जानकारी है, लेकिन हर माह उनसे चौथ वसूली करते हुए उन नीम-हकीमों को आश्रय दे रहे हैं। कार्यवाही के नाम पर अब तक कोई ठोस कार्यवाही नहीं हुई है। लोगों ने भी कई बार शिकायतें भी की, लेकिन कोई कार्यवाही नहीं की जा रही है।

बड़े-बड़े अस्पताल तक खोल रखे हैं

नीम हकीमों ने गांव-गांव में बड़े-बड़े अस्पताल खोल रहे हैं। चिकित्सा विभाग को जानकारी होने के बावजूद कार्यवाही नहीं हो रही है। सीएमएचओ डॉ. बिश्नोई को जब पूछा जाता है तो उनका यही कहना होता है कि ब्लॉक सीएमएचओ के नेतृत्व में टीम गठित कर रखी है, जो समय-समय पर कार्यवाही करती है, लेकिन हकीकत तो यह है कि बीसीएमओ से लेकर सीएमएचओ तक बाकायदा नीम हकीम तक राशि पहुंचती है। जालोर जिले में करीब 1 हजार से अधिक नीम-हकीम बैठे लोगों के स्वास्थ्य से खिलवाड़ कर रहे हैं, लेकिन कार्यवाही किसी तरह की नहीं होती है।

घरों में मेडिकल की दुकान तक संचालित

नीम-हकीमों के घरों में ही बिना परमिशन मेडिकल की दुकानें तक खोल रखी है। जहां मरीजों को जमकर लूटा जा रहा है। चेकअप से लेकर दवाई देने तक मरीजों की जिंदगी के साथ ना केवल खिलवाड़ किया जा रहा है, बल्कि उन्हें आर्थिक रूप से भी लूटा जा रहा है, जबकि सीएमएचओ डॉ. बिश्नोई हर महीने चौथ वसूली कर लोगों की जान से खिलवाड़ करने की मौन परमिशन नीम-हकीमों को दे रखी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Page generated in 0.576 seconds. Stats plugin by www.blog.ca