शस्त्र पूजन में उमड़ा जनसैलाब, देखे वीडियो…


जालोर. सिर पर पंचरंगी साफा, माथे पर तिलक और हाथ में सजे-धजे हथियार। कमोबेश ऐसा ही नजारा था मंगलवार शाम शहर के आशापूर्णा कॉलोनी का। विजयादशमी के उपलक्ष्य में आशापूर्णा मंदिर में आयोजित शास्त्र व शस्त्र पूजन में हजारों लोगों का सैलाब उमड़ पड़ा।
इस मौके विधिवत पूजा अर्चना के साथ शास्त्र व शस्त्र पूजन किया गया। इस दौरान अतिथियों ने युवाओं से देश सेवा के लिए हर पल तत्पर रहने का आह्वान किया। साथ ही नई पीढ़ी को भारतीय संस्कृति का महत्व बताने एवं उनमें संस्कार के बीज रोपने का आह्वान किया। निशक्तजन आयोग आयुक्त धन्नाराम पुरोहित ने कहा कि सनातन धर्म का वैभवशाली इतिहास है। सदियों से चल आ रही परम्पराओं को जीवंत बनाए रखने में आशापूर्णा यूथ क्लब की ओर से जो पहल की गई है। वह समाज के लिए प्रेरणादायी है। धुंधाड़ा धाम के भोपाजी मदनसिंह ने कहा वर्तमान में युवाओं में नशे की लत बढ़ती जा रही है। इससे दूरी बनानी होगी। साथ ही पाश्चात्य संस्कृति के असर से दूरी रखकर भारतीय संस्कृति को तवज्जो देनी होगी। इससे संस्कार पीढ़ी-दर-पीढ़ी जीवित रहेंगे। कार्यक्रम का संचालन अनिल शर्मा ने किया। इस मौके भवानीसिंह धांधिया, किसान मोर्चा जिलाध्यक्ष बजरंगसिंह राठौड़, एडवोकेट बाबूलाल, भाजपा जिला महामंत्री हीराराम जाखड़, आशापूर्णा क्लब के संयोजक श्रवणसिंह नारनाडी, अध्यक्ष सुरेश चौधरी, शिवपालसिंह राणावत, सीपी पुरोहित, डूंगरङ्क्षसह मंडलावत, जयसिंह नारनाडी, गोविंदसिंह, शैतानसिंह, पन्नेसिंह व महिपालसिंह सहित कई लेाग मौजूद रहे।
शहीदों को श्रद्धांजलि दी
शास्त्र व शस्त्र पूजन के बाद क्लब के पदाधिकारियों व अतिथियों के साथ ही कार्यक्रम में शामिल लोगों ने उरी हमले के शहीदों को दो मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Page generated in 0.679 seconds. Stats plugin by www.blog.ca