UP Election : समाजवादी पार्टी में युवा ब्रिगेड की वापसी पर पार्टी और अखिलेश आमने-सामने

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने 3 नवम्बर से विकास से विजय की ओर समाजवादी विकास रथयात्रा का ऐलान किया है। दूसरी तरफ सपा सुप्रीमो मुलायमसिंह यादव ने 24 अक्टूबर को सरकार के मंत्रियों, विधायकों और पदाधिकारियों की बैठक बुलाई है। मीडिया रिपोटर््स के अनुसार इन दोनों कार्यक्रम को सपा के अंदर कलह से जोडक़र देखा जा रहा है। यूपी के मुख्यमंत्री ने सपा मुखिया मुलायम को एक पत्र भेजा है जिसमें उन्होंने लिखा है कि वह तीन अक्टूबर से समाजवादी विकास रथयात्रा निकालना चाहते थे, लेकिन अपरिहार्य कारणों से वह तीन नवम्बर से यह रथयात्रा शुरू करेंगे। अखिलेश का ये ऐलान ऐसे समय किया गया है जब इस परिवार में सत्ता को लेकर घमासान मचा हुआ है। सपा युवा ब्रिगेड पहले से ही 5 नवम्बर को पार्टी के रजत जयंती समारोह के बहिष्कार की घोषणा कर चुका है, तो अखिलेश युवा ब्रिगेड के पक्ष में खड़े हो गए है और विकास रथ यात्रा की घोषणा कर दी है। जब अखिलेश से पूछा गया कि क्या वे पार्टी के रजत जयंती में हिस्सा लेंगे तो उनका कहना था कि वे इस बारे में अभी कुछ नही बता सकते।

पार्टी में युवा ब्रिगेड की वापसी चाहते है अखिलेश

अखिलेश के एक और सवाल पूछा गया कि क्या वे प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक में हिस्सा लेंगे तो उनका जवाब गोलमाल था लेकिन स्पष्ट था कि प्रदेश कार्यकारिणी में कौन लोग हिस्सा लेते है ये आपको मालूम होगा। उनका जवाब स्पष्ट था कि वे हिस्सा नहीं लेंगे क्योंकि वे प्रदेश कार्यकारिणी के सदस्य नहीं है। कुल मिलाकर यूपी सीएम पार्टी से निष्कासित युवा ब्रिगेड की वापसी चाहते है। गौरतलब है कि 12 सितंबर को समाजवादी परिवार का संग्राम सार्वजनिक होने के बाद से युवा ब्रिगेड खुलकर अखिलेश यादव के समर्थन में खड़ा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Page generated in 0.673 seconds. Stats plugin by www.blog.ca