नकली सोने को असली बता 58 साल का बुजुर्ग बेटे के साथ मिलकर करता था ठगी, पुलिस ने धरदबोचा

जालोर @ अर्थ न्यूज नेटवर्क


लोगों को नकली सोने के आभूषण व बिस्किट को असली बताकर ठगी करने वाले दो आरोपियों को पुलिस ने धरदबोचा है। दोनों आरोपी रिश्ते में पिता-पुत्र है और लम्बे समय से ठगी के इस काम से जुड़े हुए है।

 

 

पुलिस के अनुसार भीनमाल के माहेश्वरी कॉलोनी निवासी सोमताराम पुत्र सरदाराराम माली ने 22 फरवरी 2017 को भीनमाल पुलिस थाने में रिपोर्ट पेशकर बताया कि उसकी किराणा की दुकान शहर के दासपां बस स्टैण्ड पर स्थित है। आज शाम साढ़े चार बजे दो व्यक्ति उसकी दुकान पर आए और सोने की चेन बेचने की बात कही। इस दौरान दोनों ने चेन का टुकड़ा भी दिया। जिसकी मैंने सुनार से जांच करवाई तो वह असली निकला। जिस पर मैंने 50 हजार रुपए नकद देकर चेन को खरीद लिया। दोनों के जाने के बाद जब मैंने चेन को सुनार से जांच करवाया तो वह नकली निकली। दोनों उससे धोखाधड़ी करके नकली सोने की चेन देकर 50 हजार रुपए ठग ले गए।

 

हुलिए के आधार की तलाश

पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर आरोपियों का सुराग लगाने के लिए सहायक उप निरीक्षक अखाराम के नेतृत्व में हैड कांस्टेबल डूंगराराम, कांस्टेबल पदमसिंह, सेवाराम व जगराम की टीम गठित की। टीम ने पीडि़त की ओर से बताए गए हुलिए के आधर पर आरोपी की तलाश शुरू की। इस दौरान पुलिस ने रामसीन से सिवणा निवासी शंकरलाल (22) जाति बागरी एवं उसके पिता देवाराम बागरी (58) को दस्तयाब कर पूछताछ शुरू की। पूछताछ में दोनों ने वारदात करना कबूल किया। पुलिस के अनुसार आरोपी शातिर ठग है, जो लोगों को झांसा देकर असली सोने के टुकड़े दिखाते है और फिर सौदा तय होने पर विश्वास में लेकर नकली सोना थमा रुपए लेकर धोखाधड़ी करते हंै।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Page generated in 0.742 seconds. Stats plugin by www.blog.ca