ट्वीट मामला : एससी-एसटी मामले में क्रिकेटर पांड्या को इसलिए मिल सकती है राहत, जानिए

अर्थ न्यूज. जोधपुर

संविधान निर्माता डॉ. भीमराव अंबेडकर को लेकर ट्वीटर पर टिप्पणी करने वाले क्रिकेटर हार्दिक पांड्या के खिलाफ दर्ज हुए एससी-एसटी मुकदमें में हार्दिक पांड्या को राहत मिल सकती है। इसका कारण यह सामने आ रहा है कि जिस ट्वीटर एकाउंट से यह टिप्पणी की गई है, वह हार्दिक पांड्या का ऑफिशियल एकाउंट नहीं है बल्कि उनके नाम से शुरू किया गया पैरॉडी एकाउंट है। ऐसे में यह माना जा रहा है कि पांड्या हो कुछ राहत मिल सकती है।

यह था मामला

दरअसल यह पूरा मसला बीते साल दिसंबर में पांड्या के पैरोडी अकाउंट से किए गए एक ट्वीट से जुड़ा है ण् इस ट्वीट में भारत की संविधान सभा की प्रारूप समिति के अध्यक्ष रहे डॉ. भीमराव अंबेडकर के बारे में आपत्तिजनक बात कही गई थी। यह अकाउंट अब डिलीट कर दिया गया है।
इस ट्वीट को आपत्तिजनक मानते हुए जोधपुर के एक वकील डीआर मेघवाल ने जोधपुर लूणी थाने में पांड्या के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने की कोशिश की। आरोप है कि हार्दिक पांड्या ने बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर को लेकर सोशल मीडिया पर अभद्र व आपत्तिजनक टिप्पणी की है। पुलिस के इनकार करने के बाद अदालत में परिवाद पेश किया गया। जिसे मंजूर करते हुए कोर्ट ने एससी-एसटी एक्ट की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज करके जांच के आदेश दिए गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Page generated in 0.522 seconds. Stats plugin by www.blog.ca