#Big breaking # 35.80 लाख लूट का राजफाश, अपहृत खुद ही निकला मास्टरमाइंड, तीन गिरफ्तार

– सांचौर में हवाला व्यापारी के यहां काम करने वाले युवक का अपहरण कर लाखों की लूट का मामला

सांचौर @ अर्थ न्यूज नेटवर्क


शहर के मेहता मार्केट में गत दिनों हवाला व्यापारी के यहां काम करने वाले मुनिम का बदमाशों की ओर से अपहरण कर करीब 35 लाख की लूट करने के मामले का पुलिस ने राजफाश कर दिया है। जिस व्यक्ति को अपहरण कर लूट की वारदात की बात सामने आया वह खुद इस पूरी साजिश का सूत्रधार निकला। पुलिस ने लूट की साजिश रचने वाले मुनिम के साथ ही दो अन्य आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

 

गौरतलब है कि गत 11 अक्टूबर को सांचौर के मेहता मार्केट से चौधरी धर्मशाला की तरफ जाने वाली गली से जवानभाई कोली ठाकोर आंगडिय़ा वाला का अपहरण कर 35 लाख रुपए लूटने एवं बाद उसे हाथ पैर बांधकर आरवा खरड़ में फेंकने का मामला सामने आया था। सूचना पर पुलिस ने कार्यवाही करते हुऐ ग्रामीणों द्वारा जवानभाई को अस्तपताल पहुंचाने पर उसका मेेडिकल करवाया था। घटना की गम्भीरता को देखते हुए घटना की रात को ही जिला पुलिस अधीक्षक विकास शर्मा सांचौर पहुंचे। लगातार तीन दिन उन्होंने सांचौर कैम्प रखते हुए वारदात की जांच एवं कार्यवाही की मॉनिटरिंग की। इसके अलावा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक जस्साराम बोस, पुलिस उप अधीक्षक फाऊलाल मीणा के नेतृत्व व पर्यवेक्षण में सांचौर थानाधिकारी सुखराम विश्नोई, सरवाना थानाधिकारी हरीश राठौड़, चितलवाना थानाधिकारी तेजुसिंह, करड़ा थानाधिकारी चैनप्रकाश, सांचौर थाना के उप निरीक्षक केसाराम व सहायक उप निरीक्षक दुर्गाराम मय जाप्ता की छह टीमें गठित की गई। साथ ही एक टीम तकनीकी मदद के लिए गठित की गई। जिन्होंने तकनीकी संसाधनों सीसीटीवी फुटेज की सहायता से हर पहलु पर पड़ताल करते हुए मुखबिरों से प्राप्त सूचनाएं मुहैया करवाई।

ऐसे आए शक के दायरे में

जांच के दौरान शक की सुई घटना में पीडि़त वडाणा (गुजरात) निवासी जवानभाई पुत्र वसरामभाई कोली ठाकोर की ओर घूमती नजर आई। जिस पर जवानभाई का पुराना रिकॉर्ड खंगाला तो उसके जुआरी होने की बात सामने आई। वहीं उस पर करीब 10-15 लाख रुपए का कर्ज भी था। ऐसे में उस पर निगरानी रखनी शुरू की। इस दौरान मीठावी (गुजरात) निवासी नरपतदान पुत्र हरीदान चारण एवं नागोलडी निवासी मेवाराम पुत्र बेचराराम रेबारी की भूमिका भी संदिग्ध पाई गई। इस पर इन्हें दस्तयाब कर पूछताछ की गई तो पूरे घटनाक्रम का खुलासा हो गया।

 

ऐसे रची अपहरण व लूट की साजिश

आरोपी जवानभाई हवाला कारोबारी अशोकभाई ठक्कर निवासी अहमदाबाद का एजेन्ट है। नरपतदान चारण भी पूर्व मे अशोकभाई का एजेंट रह चुका है। जबकि मेवाराम जो अवैध शराब के कारोबार मे लिप्त है। पिछले दिनों सांचोर पुलिस की ओर से मेवाराम व उसके भाई सांवलाराम के कब्जे से भारी मात्रा मे शराब की खेप बरामद की गई थी। इससे मेवाराम आर्थिक रूप से टूट चुका था । जबकि जवानभाई जुआ सट्टा की लत एंव घरेलू खर्चे के कारण आर्थिक तंगी मे था। वहीं नरपतदान भी हवाला कारोबार की उधारी से आर्थिक तंगी मे आ गया था। इस पर जवानभाई ने अपने ही मालिक की रकम को ठिकाने लगाने के लिए नरपतदान व मेवाराम के साथ मिलकर योजना बनाई व लाभ आनलाइन में हवाला के जरिए आई राशि का गबन करने व स्वयं का अपहरण कर फेंकने का नाटक करना तय किया गया। इसमे मेवाराम रेबारी निवासी नागोलड़ी द्वारा अपनी कार को वसाराम उर्फ वचनाराम पुत्र मेवाराम रेबारी निवासी नागोलड़ी, ईश्वर पुत्र भाणाराम रेबारी निवासी भाटकी को देकर जवानभाई को गाडी मे बिठाकर आरवा की तरफ चले गए व आरवा खरड़ सुनसान क्षेत्र मे जवानभाई को नीचे उतार कर उसकी सहमती से उसके हाथ पैर बान्ध कर उसके साथ हल्की मारपीट के निशान किए गए। इसके बाद उसे छोड़कर वहां से चले गए। इसके बाद जवानभाई ने चिल्लाना शुरू किया। जिस पर कुछ लोग वहां पहुंचे तथा उसे खोलकर पुलिस को इत्तला की। फिलहाल, गिरफ्तार किए गए तीनों आरोपियों से लूट की राशि व घटना में प्रयुक्त कार को बरामद करने के लिए पूछताछ की जा रही है।

नशे की लत एवं कर्जे से उभरने के लिए रचा षडय़ंत्र

आरोपी जवानभाई स्वंय जुआरी होने तथा कर्जे में आने से अपने ही मालिक को चपत लगाने की ठाने बैठा था। जिसका सहयोग अशोकभाई के पूर्व नौकर नरपतदान चारण तथा अवैध शराब के कारोबार से जुड़े मेवाराम रेबारी ने किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Page generated in 0.875 seconds. Stats plugin by www.blog.ca