जालोर : पुलिस नींद में, फिर टूटे पांच घरों के ताले

सायला. इसे पुलिस की नाकामी कहे या फिर सतर्कता का अभाव, लेकिन हकीकत यही है कि चोर जिलेभर में सूने मकानों को अपना निशाना बना रहे हैं। बुधवार रात चोरों ने निकटवर्ती आलासन गांव में एक साथ 5 घरों के ताले तोड़ वारदात को अंजाम दिया। फिलहाल, चोरी हुए माल व नकदी का आंकलन किया जा रहा है।

जानकारी के अनुसार बुधवार रात चोरों ने आलासन गांव में 5 घरों के ताले तोड़े। चोर यहां से घरों से सामान व नकदी पर हाथ साफ कर गए। गुरुवार सवेरे ग्रामीणों को घरों के ताले टूटे मिले तो वारदात का पता चला। ग्रामीणों ने तत्काल इसकी सूचना सायला पुलिस थाने में दी। जिस पर सायला पुलिस मय जाप्ते के मौके पर पहुंची और मौका मुआयना किया। साथ ही फुटमार्क लेने की प्रक्रिया शुरू की।
सायला पुलिस नाकामी
पिछले कुछ समय से सायला क्षेत्र में हो रही चोरियों पर सायला पुलिस की ओर से चोरियों को रोकने का असरकारक प्रयास नहीं किया जा रहा है। जिससे चोरों के हौसले बुलंद है। कुछ दिनों पूर्व ही चोरों ने मेंगलवा, तिलोड़ा व बोरवाड़ा में 16 जगह दुकानों के ताले तोड़ वारदात को अंजाम दिया था। जिसका अब तक कोई सुराग नहीं लग पाया है।

पहले भी हो चुकी हैं चोरियां

करीब दस माह पूर्व भी चोरों ने मेंगलवा कस्बे में आठ मकानों के ताले तोड़े थे। चोर यहां से सामान, नकदी एवं गहने चुरा ले गए थे। लेकिन आज तक इस मामले में कोई सुराग नहीं लग पाया है।

जिलेभर में यही हाल

पिछले कुछ समय से जिलेभर में चोरी की वारदातों में इजाफा हुआ है। हालांकि, पुलिस ने भाद्राजून लूट प्रकरण व कपिल हत्याकांड का खुलासा कर जरूर अपनी पीठ थपथपाई हो, लेकिन यह सफलता भी सीसीटीवी फुटेज व चश्मदीद से सुराग लगने के कारण मिली है। जबकि चोरियों का राज खोलने में जिले की पुलिस फिसड्डी ही साबित हुई है। जिले में छोटी-मोटी चोरियों की वारदात की पुलिस मीडिया तक जानकारी उपलब्ध नहीं करवाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Page generated in 0.850 seconds. Stats plugin by www.blog.ca