गुरमेहर के दादा बोले- बेटा खोया तब बीजेपी की सरकार और आज भी उसी की सरकार है

अर्थन्यूज नेटवर्क

एबीवीपी के खिलाफ कैंपेन शुरू करने वाली गुरमेहर कौर को रेप की धमकी मिलने के बाद गुरमेहर ने अब खुद को इससे अलग कर दिया है। मंगलवार सुबह ट्वीट कर गुरमेहर ने की जानकारी साझा की। गुरमेहर ने ट्वीट किया कि मैं खुद को इस कैंपेन से अलग कर रही हूं। गुरमेहर ने यह भी कहा कि सहवाग के ट्वीट ने उनका दिल तोड़ दिया। गुरमेहर ने छात्र संगठन आईसा की ओर से निकाले जाने वाले मार्च के लिए छात्रों को बधाई दी और कहा कि ज्यादा से ज्यादा संख्या में वहां जमा हों।

इधर, गुरमेहर के दादा कंवलजीत सिंह ने पोती का समर्थन किया है। कंवलजीत ने कहा कि हमने बेटा तो खोया ही, अब बेटी को भी धमकी मिल रही है। बेटी की बात तो सुनो। ज्यादा से ज्यादा क्या होगा, बेटी को मार ही तो देंगे। जब बेटा खोया तो बीजेपी की सरकार थी। आज भी उसी की सरकार है। तब भी हमें कुछ नहीं मिला था और आज भी नहीं मिलेगा। किरन रिजिजू ने भी कह दिया कि देशद्रोह हो रहा है, कौन गुरमेहर के दिमाग में जहर भर रहा है।

इसके साथ ही यह विवाद अब पूरी तरह से राजनीतिक रूप ले चुका है। इसको लेकर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल एबीवीपी और दिल्ली विश्वविद्यालय की छात्रा को दुष्कर्म की धमकी देने वालों के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर मंगलवार दोपहर को उपराज्यपाल अनिल बैजल से मुलाकात करेंगे। साथ ही राहुल गांधी ने ट्वीट करते हुए लिखा “डर की तानाशाही के खिलाफ हम अपने छात्रों के साथ हैं।
वहीं दूसरी तरफ विवाद बढऩे और इस पर राजनीति गर्माने पर गुरमेहर ने दिल्ली छोड़ दिया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक गुरमेहर वापस जालंधर लौट गई हैं। आज ही उन्होंने खुद को कैंपेन से हटाने का ऐलान भी किया है।

मैसेज वायरल पर आई टिप्पणियां

गुरमेहर कौर के इस कैंपेन के वायरल होने पर रेप की धमकी मिली। जिसके बाद बीजेपी सांसद प्रताप सिम्हा ने उसकी तुलना दाऊद इब्राहीम से कर दी। बेंगलूर से बीजेपी सांसद सिम्हा ने कहा कि दाऊद कम से कम देशद्रोह को अपने पिता के नाम के पीछे नहीं छुपाता। इससे पहले वीरेंद्र सहवाग और रणदीप हुडा ने भी ट्वीट करके इस मसले पर चुटकी ली। जिसने सोशल मीडिया पर एक नई डिबेट शुरू कर दी।

कौन है गुरमेहर कौर

दिल्ली यूनिवर्सिटी के रामजस कॉलेज से शुरू हुआ विवाद बढ़ता ही चला जा रहा है। गुरमेहर कारगिल युद्ध में शहीद हुए कैप्टन मनदीप सिंह की बेटी है।

यह है पूरा मामला

ये पूरा मामला दिल्ली यूनिवर्सिटी के रामजस कॉलेज से शुरू हुआ। बुधवार को रामजस कॉलेज में एक सेमिनार आयोजित किया गया था जहां जेएनयू छात्र उमर खालिद को वक्ता के तौर पर बुलाए जाने का एबीवीपी ने विरोध किया। विरोध प्रदर्शन हिंसक हो जाने से कई छात्र घायल भी हुए थे। इस बवाल के बाद डीयू की छात्रा गुरमेहर ने 140 शब्दों के फेसबुक पोस्ट में पूरा हंगामे को लिखा। गुरमेहर ने एबीवीपी के खिलाफ एक टायरनी ऑफ फियर नाम से एक कैंपेन भी चलाया। देखते ही देखते यह कैंपेन वायरल हो गया। गुरमेहर ने अपनी फोटो भी बदल दी। उन्होंने एक नई तस्वीर लगाई जिसमें लिखा था कि मैं दिल्ली यूनिवर्सिटी की छात्रा हूँ। मैं एबीवीपी से डरी नहीं हूँ। मैं अकेली नहीं हूँ। देश का हर छात्र मेरे साथ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Page generated in 0.549 seconds. Stats plugin by www.blog.ca