राधे मां की लीला में सेक्शुअल डांस, जानिए आप भी…

मुम्बई. देशभर में सुर्खियों में रही राधे मां एक बार फिर से चर्चा में है। उनके एक परम भक्त ने ही अब बंद कमरे में होने वाली उनकी लीला को लेकर पोल खोली है। ऐसे में खुद को देवी कहने वाली राधे मां एक बार फिर से सवालों के दायरे में है। राधे मां के इस गुप्त लोक की लीला के बारे में जानकर आप भी हैरान रह जाएंगे।

raadhe-maa-1
मुम्बई के मिठाई कारोबारी मनमोहन गुप्ता ने अब राधे मां को लेकर कई सनसनीखेज बातें उजागर की हैं। उनके मुताबिक राधे मां खुद को प्योर एंड पाइस बताती है, लेकिन हकीकत यह है कि वे बंद कमरे में फिल्मी गानों पर नाचती है। अपने खास भक्तों के लिए गाती है। इस दौरान वह नाचते-गाते अपने भक्तों को आशीर्वाद भी देती है, वो भी निराले अंदाज में आई लव यू बोल कर। गौरतलब है कि मनमोहन गुप्ता राधे मां के परम भक्तों में से एक है और उनके घर में ही चौकी लगाती थी। गुप्ता ने आरोप लगाया है कि राधे मां की ओर से लगाई जाने वाली चौकी प्री मैनेज होती थी। हर चौकी की रेट फिक्स होती थी। इसके लिए बड़े-बड़े सितारों को बकायदा मोटा शुल्क देकर बुलाया जाता था। इसमें बड़े राजनेताओं व सेलिब्रिटीज को भी आमंत्रित किया जाता था। ताकि आम आदमी इस भीड़ को देखकर चकाचौंध में डूब जाए। इसी के बूते राधे मां लोगों को अपने जाल में फंसाती थी। उन्होंने कहा कि राधे मां कोई दिव्य शक्ति या देवी नहीं है, बल्कि वशीकरण व जादू टोना करने वाली महिला है। अपने इस काम को अंजाम देने के लिए वह फोन, मैसेज भेजकर लोगों की भीड़ जुटाती है। इसके लिए रुपए भी दिए जाते हैं। गुप्ता ने आरोप लगाया कि राधे मां की ओर से लगाई जाने वाली चौकी वास्तव में दिखावा मात्र में है। इसमें वह बार बाला की तर्ज पर सेक्शुअल डांस करके अपने खास भक्तों को रिझाती है। वह अपने खास भक्तों के लिए बंद करने में फिल्मी गीतों पर डांस करने के साथ ही गीत गाती है। इस दौरान वह अपने भक्तों को आई लव यू भी बोलती है। इस दौरान अपने खास भक्तों की वीडियो व फोटो लेकर उन्हें कब्जे में लेकर ब्लैकमेल किया जाता है। राधे मां काले जादू के बूते लोगों को सम्मोहित करके अपने गंदे कारोबार को संचालित करती है। गुप्ता के खुलासे के बाद एक बार फिर से चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया। वहीं उनके दरबार में होने वाली लीला भी खुलकर लोगों के सामने आने लगी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Page generated in 0.833 seconds. Stats plugin by www.blog.ca