वैज्ञानिक दृष्टिकोण विकसित करने के लिए विज्ञान मेले जरूरी : देवल

मालवाड़ा. वर्तमान युग विज्ञान एवं तकनीकी का है। लिहाजा, विद्यार्थियों में जिज्ञासा व वैज्ञानिक दृष्टिकोण विकसित करने के लिए इस तरह के मेले उपयोगी व सार्थक होते हंै। यह बात रानीवाड़ा विधायक नारायणसिंह देवल ने उमाजी ओखाजी राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में आयोजित जिला स्तरीय विज्ञान, गणित एवं पर्यावरण प्रदर्शनी तथा जनसंख्या शिक्षा मेला के समापन समारोह में बतौर मुख्य अतिथि कही।
उन्होंने कहा कि ये मेले बाल प्रतिभा को विकसित करते हैं। ऐसे में इनका नियमित रूप से आयोजन होना नितांत ही अनिवार्य है। मेला संयोजक बनवारीलाल मीना ने बताया कि समापन समारोह की अध्यक्षता नोडल प्रधानाचार्य निम्बाराम चौधरी ने की। जबकि विशिष्ट अतिथि के नाते अमरसिंह देवल मौजूद रहे। इस दौरान अतिथियो ंने प्रतियोगिता में भाग लेने वाले विद्यार्थियों की सराहना करते हुए भोजन, नाश्ता, टैण्ट, फोटोग्राफी व अन्य व्यवस्था करने वाले भामाशाहों का आभार प्रकट किया। इस अवसर पर भामाशाह प्रदीपसिंह देवल, राणसिंह देवल, प्रतापसिंह देवल, देवीसिंह राठौड़, फूलाराम सुन्देशा, सूरजमल सेन, प्रधानाचार्य पुखराज जीनगर, प्रतापाराम पुरोहित सहित कई ग्रामीण मौजूद थे। प्रतियागिताओं में प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले संभागियों को अतिथियों की ओर से पारितोषिक व स्मृति चिन्ह प्रदान किए गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Page generated in 0.868 seconds. Stats plugin by www.blog.ca