चिटफंट में करोड़ों की लूट, विधायक के पति बाबूलाल मेघवाल आरोपों के घेरे में, देखे वीडियो…

जालोर @ अर्थ न्यूज नेटवर्क

जिले के सायला उपखंड क्षेत्र में इनामी योजना के नाम पर चल रही चिटफंड  कम्पनी के कर्ताधर्ताओं की ओर से भोली भाली जनता से करोड़ों रुपए लूटने का मामला सामने आया है। इतना ही नहीं ग्रामीणों ने ईनाम नहीं मिलने पर जब जवाब मांगा तो उन्हें गुंडों से मरवाने की धमकी भी दी जा रही है। इस मामले में जानलेवा हमला होने का पुलिस में प्रकरण दर्ज कराने के बावजूद कोई कार्रवाई नहीं हो पा रही है। अब पीडि़त लोगों ने मीडिया के सामने आकर जान का खतरा होने की बात कबूल की है। साथ ही उन्होंने जालोर विधायक अमृता मेघवाल के पति बाबूलाल मेघवाल व भाजपा नेता हीराराम जाखड़ सहित कुछ अन्य लोगों की शह पर सारा खेल चलने का आरोप भी लगाया है।
दरअसल, सायला उपखंड क्षेत्र में लॉटरी के नाम पर चिट फंड कम्पनी की ओर से गांवों में रहने वाले लोगों को लालच व लुभावने वादे करके किश्तों के जरिए दो संस्थाओं ने करोड़ों रुपए वसूले। कम्पनी के कर्ताधर्ताओं ने लोगों को 1500 सौ रुपए की छह किश्त के हिसाब से नौ हजार रुपए जमा करवाने पर गारंटेड ईनाम की बात कही। साथ ही ड्रॉ के दौरान ईनाम निकलने पर आगे से कोई किश्त जमा नहीं करवाने का झांसा भी दिया। चिटफंड कम्पनी की ओर से लोगों को लग्जरी गाड़ी, मोटरसाइकिल, सोने की चेन, कूलर, पंखे सहित करीब 6 हजार ईनाम देने का वादा कर एक प्रिंटेड चार्ट भी दिया गया। जिसमें ईनाम की जानकारी थी। सारी किश्तें जमा करवाने के बावजूद कोई ईनाम नहीं मिला तो पीडि़त लोगों ने पैसे वापस मांगे। इस पर ड्रॉ संचालकों ने ग्रामीणों को गुंडों से धमकियां देनी शुरू करवा दी। इस बीच, जिसने में आवाज मुखर की उस पर जानलेवा हमला करवाया गया। ग्रामीणों का दर्द हैं कि उन्हें बार-बार जान से मारने की धमकियां मिल रही हंै। ऐसे में गांव से बाहर निकलना तक दुश्वार हो गया है। यहां तक कि राजनीतिक दबाव में पुलिस भी कोई कार्रवाई नहीं कर रही है। पुलिस थाने में प्रकरण दर्ज हुए करीब तीन महीने गुजर गए, लेकिन अब तक एक भी आरोपी की गिरफ्तारी नहीं हो पाई है। इतना ही नहीं पीडि़त लोगों ने मुख्यमंत्री को भी पत्र भेजकर न्याय की गुहार की लगाई है, लेकिन अब तक कोई कार्रवाई नहीं हो पाई है।
विधायक पति पर लगे आरोप
इधर, पीडि़त ग्रामीणों ने बताया कि यह सारा खेल जालोर विधायक अमृता मेघवाल के पति बाबूलाल मेघवाल, भाजपा जिला महामंत्री हीराराम जाखड़ एवं युवा मोर्चा जिला महामंत्री रामाराम चौधरी व किसाना मोर्चा के अध्यक्ष जेमाराम चौधरी की शह पर चल रहा है। ग्रामीणों ने यह भी आरोप लगाया कि बाबूलाल मेघवाल अपने राजनीतिक रसूख का इस्तेमाल कर कोई कार्रवाई नहीं होने दे रहे हैं और वे भी इस पूरे खेल में शामिल है। ग्रामीणों की बात किसी हद तक सच लगती है। बाबूलाल की सायला क्षेत्र इन लोगों के साथ उठक बैठक भी कम नहीं है। इनके अजीज सम्बंधों की बात भी जगजाहिर है। इधर, संगठन की मिट्टी पलीत करने पर तुले इन कथित नेताओं के खिलाफ भाजपा आलाकमान की ओर से क्या कार्रवाई की जाती है। फिलहाल, यह भविष्य के गर्त में है।
करोड़ों का खेल, राजनीतिक शह से बच रहे आरोपी
चिटफंड के नाम पर ग्रामीणों से करीब साढ़े पांच करोड़ की लूट करने के मामले में ग्रामीणों ने खुलकर भाजपा नेताओं पर आरोप लगाए हैं। इतना ही नहीं ग्रामीणों के मुताबिक आवाज उठाने पर लोगों पर तीन बार गुंडों से जानलेवा हमले करवाए जा चुके हैं। इस सम्बंध में पुलिस में प्रकरण भी दर्ज करवाया गया। वहीं पुलिस अधीक्षक तक इसकी शिकायत की गई। लेकिन राजनीतिक शह के चलते अब तक कोई कार्रवाई नहीं हो पा रही है। यहां तक कि पुलिस के आला अधिकारी भी महज आश्वासन दे रहे हैं।
पुलिस थाने में दर्ज हो चुका है मुकदमा
पीडि़त लोगों की ओर से सायला थाने में इन लोगों के खिलाफ मुकदमा भी दर्ज करवाया गया है। इस सम्बंध में कुछ लोगों ने पुलिस अधीक्षक को रिपोर्ट देकर लॉटरी के नाम ठगी करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी। लेकिन कार्रवाई नहीं हो पाई। ऐसे में पीडि़तों ने मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट के यहां परिवाद पेश किया। न्यायालय ने पुलिस को प्रकरण दर्जकर अनुसंधान करने के आदेश दिए। कोर्ट के आदेश पर सायला पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर जांच शुरू की। लेकिन हकीकत यह है कि पुलिस ने सायला निवासी करताराम चौधरी, आलवाड़ा निवासी रामाराम, जेमाराम, हिमाराम, वगताराम चौधरी व सायला निवासी जालमसिंह राजपूत के खिलाफ आइपीसी की धारा 420, 406 व 120 बी एवं प्राइज चिट एवं धन परिचालन स्कीम पाबंदी अधिनियम 1978 की धारा 3, 4 व 5 के तहत मामला दर्ज कर इतिश्री कर ली। हाल यह है कि अब तक एक भी आरोपी की गिरफ्तारी नहीं हो पाई है।

2 thoughts on “चिटफंट में करोड़ों की लूट, विधायक के पति बाबूलाल मेघवाल आरोपों के घेरे में, देखे वीडियो…

  • 10/10/2016 at 1:06 am
    Permalink

    ईनामी योजना वालो की हुई बल्ले बल्ले
    गरिब जनता मे हुई हाहाकार

    Reply
    • 10/10/2016 at 6:54 pm
      Permalink

      Aeh to hona hi tha pehle se malu tha Ramlal asa tha jo garibo ka pesa to nahi khaya

      Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Page generated in 0.864 seconds. Stats plugin by www.blog.ca