पाली का चर्चित मामला : चैन्नई के सब इंस्पेक्टर की गोली लगने से मौत के मामले के बाद फरार नाथूराम पिंडेल चढ़ा पुलिस के हत्थे

अर्थ न्यूज नेटवर्क. पाली

चैन्नई में लूट की वारदात के आरोपी को पकडऩे के दौरान सब इंस्पेक्टर पेरियापांडियन की मौत के बाद फरार चल रहे मुख्य आरोपी नाथूराम पिंडेल को पकडऩे में पुलिस ने सफलता हासिल कर ली है। उसे पकडऩे के लिए पांच राज्यों की पुलिस को लंबा सफर करना पड़ा।

राजकोट के बगोदरा टोल प्लाजा पर रूकवाने का प्रयास करते समय नाथूराम ने पुलिस पर फायदा भी किया, जबाव में पुलिस ने भी 3 फायर किए। नाथूराम की गाड़ी का रेडियेटर फूट जाने के बाद उसे पकड़ लिया गया। इसके बाद उसे तथा उसके साथी सुरेश मेघवाल को पाली लेकर आई। जिससे पूछताछ की जा रही है।

पुलिस पर हमले के दौरान चेन्नई के इंस्पेक्टर की जान गई थी
गत 16 नवंबर को चेन्नई में महालक्ष्मी ज्वेलर्स की दुकान से साढ़े तीन किलो सोना, पांच किलोग्राम चांदी व 2 लाख रुपए चोरी किए थे। ज्वेलर बाबरा हाल चेन्नई निवासी मुकेश जैन ने रामावास निवासी नाथूराम पिंडेल, खारिया नींव निवासी दीपाराम जाट व बिलाड़ा के घाणा मगरा निवासी दिनेश चौधरी के खिलाफ केस दर्ज कराया था। इसे पकडऩे के लिए कोलातुर थाना पुलिस ने लोटोती निवासी तेजाराम के करोलिया सरहद में चूना भट्टा पर दबिश दी थी।

इस दौरान आरोपियों ने दल पर हमला बोल दिया था। भागते समय इंस्पेक्टर पेरियापांडियन लोहे की फाटक पर चढ़ गए। बाहर खड़े इंस्पेक्टर मुनिशेखर ने हमलावरों पर फायर करने के लिए पिस्टल निकाली और उसे अन कोक करते समय ही एक्सीडेंटल गोली चली। जो इंस्पेक्टर पेरियापांडियन की बांह के नीचे लगते हुए आरपार हो गई, जिससे उनकी मौत हो गईं थी। जिसके बाद नाथूराम फरार चल रहा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Page generated in 0.550 seconds. Stats plugin by www.blog.ca