जालोर में छात्र का अपहरण करने वाले बजरी खनन माफिया निकले, समदड़ी में बजरी खनन को लेकर चल रही थी रंजिश

अर्थ न्यूज. जालोर

बजरी खनन माफियाओं की पुलिस से मिलीभगत के कारण इनके हौंसले बूलंद है। बजरी खनन माफिया वर्चस्व की लड़ाई के पीछे कई तरह की वारदातों को अंजाम दे रहे हैं। जालोर में शनिवार को रेलवे स्टेशन के पास से छात्र के अपहरण के पीछे का मुख्य कारण भी बजरी खनन को लेकर आपसी रंजिश सामने आई है। हालांकि जिस छात्र भानुप्रतापसिंह का अपहरण किया गया है बदमाश उसके अपहरण के लिए नहीं थे, बल्कि वे उसके दोस्त जनकसिंह का अपहरण करने आए थे, लेकिन जनकसिंह भाग गया तो अपहरणकर्ता भानु को ही उठा ले गए।

एक घंटे तक भानुप्रताप की बेरहमी से पिटाई की

बदमाश एक बेकसूर छात्र का अपहरण कर ले गए तथा करीब घंटे भर तक बेरहमी से पिटाई की। गनीमत रही कि बिशनगढ़ से आगे भंवरानी पुलिस की नाकाबंदी देखकर वाहन का संतुलन बिगडऩे से पलटी खा गया तथा पुलिस ने एक नाबालिग सहित तीन आरोपियों को दबोचा तथा युवक को बचा लिया गया। अन्यथा छात्र के साथ अनहोनी हो सकती थी।

यह है पूरा मामला, रंजिश का कारण

जानकारी के अनुसार महावीरसिंह समदड़ी, दिग्विजयसिंह बगरू समदड़ी में बजरी खनन करते हैं। ऐसे में इन दोनों का प्रद्युमन सिंह रातड़ी व नटवर करण समदड़ी से झगड़ा चल रहा है। आपसी रंजिश के कारण शनिवार को दिग्विजयसिंह के दोस्त जनकसिंह का अपहरण करने आए छह-सात बदमाश आए थे।

advertisement

जनकसिंह का करना था अपहरण

समदड़ी से इनोवा कार में शनिवार रात करीब 9 बजे जालोर आए छह बदमाश बावतरा हाल राजेंद्र नगर जालोर निवासी जनकसिंह पुत्र गणपतसिंह से पुरानी रंजिश होने के कारण अपहरण करने आए थे। बदमाशों ने जनकसिंह के एक मित्र समदड़ी निवासी धर्मेंद्र सैन को शनिवार दोपहर ही समदड़ी से अपहरण कर गाड़ी में डाल लिया था तथा उसे मारते-पीटते रात करीब साढ़े 9 बजे जालोर लेकर आए। यहां आकर धर्मेंद्र के जरिए जनकसिंह को कॉल करवाकर रेलवे स्टेशन बुलाया। बीच रास्ते मेंभानुप्रताप मिल गया और जनकसिंह उसे लेकर स्टेशन पहुंचा। वहां पहुंचने पर घात लगाकर बैठे छह बदमाश जनकसिंह का अपहरण करने लगे, लेकिन जनकसिंह भाग गया और भानुप्रताप को उन युवकों ने पकड़ कर गाड़ी में डाल दिया और पीटना शुरू कर दिया।

Video :

गाड़ी पलटी, जब पुलिस ने पकड़ा

अपहरणकर्ता ओड़वाड़ा गांव के पास पहुंचे तो वहां भंवरानी पुलिस चौकी की ओर से नाकाबंदी देखी तो इनोवा को मोडऩे के प्रयास में गाड़ी असंतुलित हो गई तथा पलटी खा गई। भंवरानी पुलिस ने एक नाबालिग को दस्तयाब करने समेत दो अन्य आरोपियों को गिरफ्तार किया है। सूचना पर जालोर पुलिस ने मौके पर पहुंचकर भानुप्रताप व धर्मेंद्र सैन तथा दो आरोपियों को पकड़कर जालोर लेकर आई।

पुलिस ने एक नाबालिग सहित तीन को पकड़ा

सीआई राजेंद्रसिंह का कहना है कि इनोवा कार से तीन आरोपी बाड़मेर खंडप का गोलिया निवासी प्रताप चौधरी पुत्र जोधाराम चौधरी तथा समदड़ी निवासी सिकंदर खां पुत्र अल्लाह बख्श मोयला मुसलमान को गिरफ्तार किया है। एक आरोपी नाबालिग है, जिसे बाल सम्प्रेषण सुधार गृह रखा गया है। वहीं शेष मोकलसर निवासी प्रिंस, रातड़ी निवासी प्रद्युमनसिंह व महिलपासिंह तथा एक अन्य को गिरफ्तार करने के लिए टीमों को जगह-जगह भेजा गया है। भानुप्रताप ने बताया कि बदमाशों के पास हथियार थे। लाठियों से उसे बेरहमी से पीटते हुए तलवारें दिखाई जा रही थी। इसी बीच गाड़ी के डेस्कबोर्ड में से एक ने माउजर निकालकर गोली मारने की धमकी भी दी थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Page generated in 1.270 seconds. Stats plugin by www.blog.ca
error: