जालोर के इस बड़े कस्बे में सैकड़ों लोगों ने की शराब की दुकान की खिलाफत, जानिए पूरा मामला…

जालोर @ अर्थ न्यूज नेटवर्क


प्रदेश में कई जगह शराबबंदी की मुहिम के साथ ही अब सुप्रीम कोर्ट के नए आदेश ने जहां आबकारी विभाग के साथ ही शराब व्यवसायियों की सांसें तेज कर दी हैं। वहीं अब शराब व्यवसायी आबादी इलाकों में दुकान के लिए लोकेशन तलाशने लगे हैं। लेकिन इसके साथ ही जगह-जगह इसका विरोध होने लगा है। ताजा मामला आहोर उपखंड मुख्यालय का है। जहां आबादी इलाके में शराब की दुकान लगाने के खिलाफ लोगों ने मुखर होकर खिलाफत करना शुरू कर दिया है।

 

 

दरअसल, इस बार सुप्रीम कोर्ट की ओर से स्टेट व नेशनल हाईवे से ५०० मीटर की दूरी पर शराब की दुकान लगाने के आदेश दिए गए हैं। ऐसे में आहोर में शराब ठेकेदार को स्टेट हाईवे पर आबादी से सटे इलाके में आसपास कहीं लोकेशन नहीं मिल रही है। चूंकि जोधपुर चौराहे से आगे का क्षेत्र भैंसवाड़ा ग्राम पंचायत में आता है। इधर, शराब ठेकेदार मोटी कमाई के फेर में आबादी क्षेत्र में ही दुकान लगाने के लिए प्रयासरत है। इसके लिए ठेकेदार ने कच्चा काम्बा रोड पर आबादी इलाके में ही लोकेशन तय कर दी। तिस पर आबकारी निरीक्षक ने भी हाथों-हाथ माप करके इसके लिए हरी झंडी दे दी। हालांकि इस दौरान लोगों ने विरोध भी जताया, लेकिन आबकारी निरीक्षक ने लोगों को मुकदमा दर्ज करने धमकी देकर चुप करा दिया।

 

उपखंड अधिकारी के पास पहुंचे सैकड़ों लोग

इधर, आबकारी निरीक्षक की ओर से लोगों को संतोषजनक जवाब नहीं देने पर सैकड़ों की तादाद में लोग उपखंड अधिकारी प्रकाशचंद्र अग्रवाल के पास पहुंचे और ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में बताया कि शराब की दुकान के लिए जो लोकेशन तय की गई है, उससे कुछ ही दूरी पर राजकीय विद्यालय स्थित है। यह पूर्णत: आबादी कॉलोनी है और यह सभी लोग शराब के खिलाफ है। शराब की दुकान होने से यहां निरंतर समाजकंटक व शराबी लोगों का जमघट लगा रहेगा। जिससे महिलाओं का यहां से गुजरना तक मुश्किल हो जाएगा। वहीं कॉलोनी में शांति व्यवस्था भंग होगी। इसके समीप ही आंगनबाड़ी केंद्र व राजकीय विद्यालय है। जिससे बच्चों पर वितरित असर पड़ेगा। पहले भी इस कॉलोनी में चोरी की वारदातें हो चुकी हैं। शराब की दुकान होने से यहां अनजान लोगों का आवागमन बढ़ेगा, जिससे सुरक्षा व्यवस्था गड़बड़ाने के साथ ही चोरी की वारदातें होने की आशंका है। ज्ञापन मिलने पर उपखंड अधिकारी ने आबकारी निरीक्षक से फोन पर वार्ता भी की, लेकिन अब तक इस पर कोई अंतिम निर्णय नहीं हो पाया है।

देर रात तक चली बैठक

इधर, आबकारी निरीक्षक की ओर से संतोषजनक जवाब नहीं मिलने एवं मुकदमा दर्ज करने की धमकी देने के बाद आशंकित लोगों ने सोमवार शाम को कच्चा काम्बा मार्ग पर बैठक आयोजित की। जिसमें कच्चा काम्बा रोड पर स्थित सभी कॉलोनी के सैकड़ों लोगों ने विचार मंथन किया। इसके तहत मंगलवार को जिला कलेक्टर को ज्ञापन देने एवं इसके बावजूद कार्यवाही नहीं होने पर आगामी दिनों में धरना प्रदर्शन करने का निर्णय किया गया। इस दौरान सैकड़ों की तादाद में लोग बैठक में मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Page generated in 1.014 seconds. Stats plugin by www.blog.ca