गर्ल्स हॉस्टल में तीन दिन तक छुपी रही थी हनीप्रित, राम रहीम से यह है सम्बंध…

श्रीगंगानगर @ अर्थ न्यूज नेटवर्क


डेरा सच्चा सौदा प्रमुख राम रहीम की मुंहबोली बेटी हनीप्रित अपनी फरार के दौरान श्रीगंगानगर व हनुमानगढ़ में भी छुप कर रही थी। वह इस दौरान राम रहीम के पैतृक गांव गुरुसरमोडिया के गर्ल्स हॉस्टल में भी तीन दिन तक छुपी रही थी। फिलहाल, पुलिस हनीप्रित को शरण देने वाले लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने एवं उसे पुलिस रेड की जानकारी देने वालों के बारे में पूछताछ कर रही है।

 

पुलिस की ओर से की गई प्रारंभिक पूछताछ में सामने आया कि है कि हनीप्रीत 38 दिन फरारी में श्रीगंगानगर-हनुमानगढ़ जिलों में छिपी थी। पंचकूला में दंगे होने के बाद हनीप्रीत पहले सिरसा डेरे में गई थी। वहां पुलिस की धरपकड़ होने के बाद वह हनुमानगढ़ में अपने भाई के ससुराल पहुंच गई। पुलिस यहां रेड करती उससे पहले ही हनीप्रित किशनपुरा उत्तरादा स्थित अपने एक समर्थक के घर में छुप गई। यहां से वह राम रहीम के पैतृक गांव गरुसरमोडिया पहुंच गई और यहां स्थित गल्र्स हॉस्टल में तीन दिन तक छुप कर रही। गौरतलब है कि गुरुसरमोडिया राम रहीम का पैतृक गांव है। राम रहीन ने यहां स्कूल-अस्पताल खोले हैं। वहीं गांव में सुख-सुविधा की हर चीज मौजूद है। इसके अलावा भी आसपास के क्षेत्रों में राम रहीम की सैकड़ों बीघा जमीन है।

 

मुखबिरी का राज खोलने की मशक्कत

हालांकि पुलिस ने हनीप्रित को गिरफ्तार करने के साथ ही कई राज उगलवाए हैं, लेकिन पुलिस के लिए अब भी यह सवाल गुत्थी बना हुआ है कि आखिर पुलिस रेड के बारे में हनीप्रित को जानकारी कौन देता था। गौरतलब है कि हनीप्रित को पकडऩे के लिए पुलिस ने बाड़मेर, हनुमानगढ़, गुरुसरमोडिया, उदयपुर, उत्तरप्रदेश, दिल्ली व गुरुग्राम में छापामार कार्रवाई की थी, लेकिन पुलिस के पहुंचने से पहले ही हनीप्रित उन्हें गायब मिली। ऐसे में पुलिस को विभाग के लोगों पर भी शक है। फिलहाल, पुलिस हनीप्रित के लिए मुखबिरी करने वाले का राज खोलने की मशक्कत कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Page generated in 1.417 seconds. Stats plugin by www.blog.ca