डिकॉय ऑपरेशन : भ्रूण हत्यारों पर फिर प्रहार, एमडी डॉक्टर सहित चार गिरफ्तार

-भ्रूण लिंग जांचने के मामले में गंगानगर, हनुमानगढ़, पंजाब से जुड़े लिंक, 40 हजार लिंग जांच के, 30 भू्रण हत्या के

श्रीगंगानगर @ अर्थ न्यूज नेटवर्क


भू्रण लिंग जांच एवं भू्रण हत्या करने वालों के खिलाफ स्वास्थ्य विभाग की पीसीपीएनडीटी टीम का प्रहार जारी है। जिले से हुई मुखबिरी के आधार पर ही ऐसे लोगों पर लगातार दबिश देते हुए सोमवार को छठी कार्रवाई की गई। पड़ोसी राज्य पंजाब में राजस्थान टीम की यह दूसरी कार्रवाई है। श्रीगंगानगर, हनुमानगढ़ व पंजाब के दलालों व चिकित्सकों के इस गोरखधंधे में टीम ने फाजिल्का जिले के जलालाबाद व मुक्तसर में कार्रवाई करते हुए एमडी डॉक्टर श्यामसुंदर गोयल, दलाल सुखदेवसिंह, बलविंद्रसिंह व महिला दलाल रीटा को गिरफ्तार किया है। आरोपियों ने भू्रण लिंग जांच के 40 हजार व भू्रण हत्या के 30 हजार रुपए मांगे थे। बहरहाल, चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर श्रीगंंंगानगर लाया गया है। गौरतलब है कि मिशन निदेशक नवीन जैन के निर्देशन में पीसीपीएनडीटी टीम की ओर से राज्य में अब तक 69 और इंटरस्टेट 15 कार्रवाई की जा चुकी है।

ऐसे दिया डिकॉय ऑपरेशन को अंजाम

पीसीपीएनडीटी के समुचित प्राधिकारी नवीन जैन ने बताया कि श्रीगंगानगर व हनुमानगढ़ जिले में हो रही कार्रवाइयों से लिंग जांच के मामले में अंकुश लगा है, लेकिन कुछ समय से सूचना मिल रही थी कि गर्भवतियों को यहां से पंजाब ले जाकर भू्रण लिंग जांच करवाई जा रही है। इसी दौरान श्रीगंगानगर टीम को सूचना मिली कि हनुमानगढ़ की एक महिला दलाल इस गोरखधंधे में शामिल है, जिसकी पुष्टि करने पर सूचना सही पाई गई। टीम ने राज्यस्तरीय अधिकारियों को अवगत करवाया। जिस पर कार्रवाई के लिए सीआई उमेश निठारवाल के नेतृत्व में टीम गठित की गई। मुखबिर के जरिए महिला दलाल रीटा से संपर्क साधने पर उसने कहा कि वह शुक्रवार को श्रीगंगानगर आएगी, जिसके बाद कहीं जांच करवा देगी। लेकिन वह नहीं आई। उसने शनिवार को हनुमानगढ़ बुलाया, लेकिन ऐन मौके पर यह कहकर इनकार कर दिया गया कि रविवार को ही चिकित्सक मिलेगा। आखिरकार टीम रविवार को डमी गर्भवती महिला के साथ हनुमानगढ़ पहुंची और दलाल से संपर्क किया। दलाल रीटा गर्भवती को लेकर पंजाब की ओर रवाना हुई, लेकिन उसने बताया नहीं कि जाना कहां है और रैकी करती रही। बीच रास्ते उसने यह कहते हुए इनकार कर दिया कि आज चिकित्सक मौके पर नहीं है। इसलिए आज नहीं कल आना होगा। आखिरकार, सोमवार को गंगानगर पहुंची दलाल के साथ टीम ने गर्भवती महिला व उसके नकली पति को दलाल के साथ भेजा। दलाल दोनों को लेकर पंजाब के फाजिल्का जिले के जलालाबाद पहुंची। जहां पहले से दलाल बलविंद्र सिंह मिला जो दूसरे दलाल सुखदेव सिंह के पास ले गया। वहां से गर्भवती महिला व उसके पति को दलाल अचानक मुक्तसर की ओर लेकर रवाना हो गया। टीम ने इस दौरान पीछा जारी रखा। दलाल दोनों को मुक्तसर स्थित बोम्बे सोनोग्राफी सेंटर ले गया, जहां एमडी डॉक्टर श्याम सुंदर ने गर्भवती की सोनोग्राफी जांच कर गर्भ में जुड़वां बेटियां होना बताया। इसके बाद टीम ने इशाारा मिलते ही टीम मौके पर पहुंची और चिकित्सक श्याम सुंदर व दलाल सुखदेव को गिरफ्तार कर लिया। वहीं दलाल बलविंद्र सिंह व रीटा को जलालाबाद से गिरफ्तार कर लिया गया। दलाल व चिकित्सक ने भागने का प्रयास किया लेकिन टीम सदस्यों ने आरोपियों को मौके पर ही पकड़ लिया। बेरहमी से बेटियों का कोख में कत्ल करने वाले आरोपी गिरफ्तारी के रोते-गिड़गिड़ाते नजर आए। वे अपने बच्चों की दुहाई देते हुए छोडऩे के लिए बार-बार गुहार लगाते रहे। आरोपियों को विस्तृत पूछताछ के बाद श्रीगंगानगर न्यायालय में पेश किया जाएगा।

 

कार्रवाई की बढ़ती फेहरिस्त

पीसीपीएनडीटी टीम द्वारा की गई कार्रवाइयों की फेहरिस्त दिनों-दिन बढ़ती जा रही है और कहा जा सकता है कि इनकी बदौलत लिंग जांच व कन्या भू्रण हत्या पर अंकुश लगना शुरू हुआ है। टीम ने पहली कार्रवाई कथित चिकित्सक सुखाडिय़ानगर निवासी कंवलजीत बराड़ पर की, जिसे अपंजीकृत मशीन के साथ पकड़ा। वहीं पंजाब निवासी दलाल जनकरानी को भी जेल पहुंचाया गया। दूसरी कार्रवाई दिसंबर 2016 लालगढिय़ा हॉस्पीटल में की, जहां से हॉस्पीटल के स्टाफ अमर मेघवाल को गिरफ्त में लेकर उसे जेल पहुंचाया। नए साल में पहली और टीम की तीसरी कार्रवाई 23 फरवरी 2017 को जिला मुख्यालय पर ही हुई। टीम ने पंजाब निवासी दलाल हरजिंद्र सिंह, धमेंद्र सिंह और टिब्बी निवासी पवन कुमार जाट को पकड़ा। इस मामले में एक महिला आरोपी राज एवं रमन की अपंजीकृत मशीन के साथ तलाश जारी है। चौथी कार्रवाई रायसिंहनगर में 17 मार्च 2017 को हुई, जिसके तार पंजाब तक पहुंचे। टीम ने रायसिंहनगर से पीछा करते हुए पंजाब के फिरोजपुर जिला मुख्यालय से पंजीकृत मशीन बरामद करते हुए वहां के दलाल अमनदीप सिंह को गिरफ्तार किया। जबकि नर्स बॉबी प्रवीण व डॉ. उमेश शर्मा भी आरोपी बनाए गए। इस मामले में रायसिंहनगर के न्यू महावीर नर्सिंग होम की नर्स व दलाल संदीप कौर को पुलिस ने गिरफ्तार किया जबकि चिकित्सक अशोक गुप्ता को भी मामले में आरोपी बनाया गया। पांचवी कार्रवाई छह अपे्रल 2017 को जिला मुख्यालय के अशोक नगर में हुई। इस मामले में पांच आरोपी नर्स व कथित चिकित्सक रेखा, नेतेवाला निवासी दाई बिमलादेवी, दलाल राकेश मेघवाल व जयलाल मेघवाल और सहयोगी ममता उर्फ शांति सिंधी को गिरफ्तार कर जेल पहुंचाया। मामले में इन लोगों से फर्जी मशीन भी बरामद हुई।

 

ये रहे टीम में शामिल

बेटियां बचाने में जुटी इस टीम की जितनी हौसला अफजाई व सराहना की जाए कम है। यह टीम विगत तीन दिन से कैंप कर आरोपियों की तलाश में जुटी हुई थी, जिन्हें आखिरकार सोमवार को सफलता मिली। राज्यस्तरीय अधिकारी एएसपी रघुवीर सिंह के निर्देशन और सीआई उमेश निठारवाल के नेतृत्व में एसआई विक्रम सिंह, पीसीपीएनडीटी प्रभारी रणदीप सिंह, महेंद्र सिंह चारण, नंदलाल पूनिया, सीओआईईसी विनोद बिश्रोई, आशा प्रभारी रायसिंह सहारण, कांस्टेबल राजेंद्र सिंह व विजय पाल शामिल थे। इस कार्रवाई धन-धन बाबा दीपसिंह सेवा समिति के सचिव तेजेंद्रपाल सिंह टीम्मा का भी सहयोग रहा।

 

बेटी बताएंगे तो ही कमाएंगे

पीसीपीएनडीटी टीम की ओर से गंगानगर सहित राज्य के अन्य हिस्सों में की गई अधिकांश कार्रवाई में सामने आया कि दलाल व चिकित्सकों के गठजोड़ ने भू्रण हत्या का गौरखधंधा केवल मोटी कमाई के लिए चला रखा है। गर्भ में बेटा हो या बेटी इन्हें इससे कोई सरोकार नहीं, ये ज्यादातर मामलों में बेटी ही बताते हैं ताकि गर्भपात के पैसे भी उन्हें मिल सकें। श्रीगंगानगर के अशोक नगर में हुई कार्रवाई में यह फर्जीवाड़ा स्पष्ट तौर पर सामने आया। यहां डमी सोनोग्राफी मशीन के जरिए ही कथित तौर पर गर्भ में लिंग जांच की जाती थी। चूंकि मशीन ही फर्जी है तो उसमें लिंग का पता चलना अंसभव है लेकिन ये लोग सभी मामलों में बेटी बता पैसे एंठने का धंधा कर रहे है। कमोबेश अन्य मामलों में भी यही कहानी सामने आई। यही वजह है कि एनएचएम के मिशन निदेशक नवीन जैन कई बार सार्वजनिक मंचों से अपील कर चुके हैं कि परिवारिक लोग भू्रण लिंग जांच कतई न करवाएं, क्योंकि वे अनजाने में बेटे की चाह में बेटी ही नहीं बल्कि बेटों की भी हत्या करवा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Page generated in 0.866 seconds. Stats plugin by www.blog.ca