पूर्व मंत्री रतन देवासी करेंगे राज्य सरकार के खिलाफ 51 घंटे का अनशन, जानिए पूरा मामला…

रानीवाड़ा @ अर्थ न्यूज नेटवर्क


पूर्व सरकारी उप मुख्य सचेतक व वर्तमान कांग्रेस प्रदेश सचिव रतन देवासी 29 मार्च से राज्य सरकार के खिलाफ 51 घंटे का अनशन करेंगे। यह अनशन नर्मदा कलस्टर पेयजल व सिंचाई योजना में लेट लतीफी के कारण जनता को हो रही समस्या के मद्देनजर आंदोलन के तहत किया जा रहा है। तीन चरणों में होने वाले इस आंदोलन के तहत कांग्रेस पदाधिकारी फिलहाल, गांव-गांव जनसम्पर्क करने में लगे हैं।

 

 

रानीवाड़ा कांग्रेस ब्लॉक अध्यक्ष परसराम ढाका ने बताया कि डीआर प्रोजेक्ट के तहत मुख्य लाइन में फरवरी 2015 तक पानी आना था। लेकिन अब तक पानी नहीं आया। कलस्टर योजना के तहत क्षेत्र के गांवों में हर घर और ढाणी तक पानी पहुंचाना था, लेकिन यह कार्य अब तक शुरू नहीं हुआ। सरकार सिर्फ टाइम पास कर जनता को गुमराह कर रही है। यही नहीं ईआर प्रोजेक्ट बंद पड़ा है। सिंचाई के सर्वे भी अब तक नहीं करवाया गया है। सरकार को बहुत समय दिया, लेकिन जनहित में अब तक कोई कारगर कदम नहीं उठाया गया है। ऐसे में अब मजबूरन कांग्रेस को आमजन के साथ आंदोलन करना पड़ेगा। इसी के तहत नर्मदा पेयजल व सिंचाई योजना के लिए आंदोलन की घोषणा की गई है।

तीन चरणों में होगा आंदोलन

नर्मदा परियोजना को लेकर कांग्रेस की ओर से शुरू किया जा रहा आंदोलन तीन चरणों में होगा। इसके तहत प्रथम चरण में 28 मार्च को कांग्रेस कार्यकर्ता उपखंड अधिकारी रानीवाड़ा को राज्यपाल के नाम ज्ञापन देंगे। जबकि 29 से 31 मार्च तक पूर्व सरकारी उप मुख्य सचेतक रतन देवासी की ओर से 51 घंटे का अनशन किया जाएगा। दूसरे चरण में अप्रेल माह में सांचौर, भीनमाल व जसवंतपुरा में ज्ञापन व अनशन कार्यक्रम होगा। तीसरे चरण में डीआर व ईआर क्षेत्र के गांवों में हस्ताक्षर अभियान चलाया जाएगा व जन चेतना यात्रा का आयोजन किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Page generated in 1.892 seconds. Stats plugin by www.blog.ca