इस ऑडियो से मचेगा हडकंप : विधायक पति बाबूलाल की शह पर अतिक्रमण, सुनिए ऑडियो, मामला खुद-ब-खुद समझ में आ जाएगा

अर्थ न्यूज. जालोर

जालोर शहर के पंचायत समिति सभा भवन के पीछे गंदे नाले पर भाजपा पार्षद हंसमुख नागर की ओर से बिना ईजाजत बनवाई जा रही प्याऊ में विधायक अमृता मेघवाल के पति बाबूलाल मेघवाल की स्वीकृति सामने आई है। निर्दलीय पार्षद जितेंद्र प्रजापत व नगर परिषद आयुक्त सौरभ जिंदल की एक ऑडियो में यह मामला पूरी तरह स्पष्ट हो रहा है कि प्याऊ के नाम पर अतिक्रमण करवाने में विधायक का पति बाबूलाल की पूर्ण स्वीकृति है।

निर्दलीय पार्षद जितेंद्र प्रजापत उसके वार्ड में होने वाले इस अतिक्रमण को रुकवाने के लिए जब नगर परिषद आयुक्त सौरभ जिंदल को फोन करता है तो जिंदल कहते हैं कि फिर बाबूजी क्यों बार-बार फोन करते यह कहते हैं कि काम चलने दो। इधर, जितेंद्र प्रजापत कहता है कि जब वह विधायक के पति बाबूलाल को फोन कर इस अतिक्रमण को रुकवाने को कहता है तो विधायक पति बाबूलाल कहता है कि काम रुक जाएगा।

विधायक के लेटरपेड पर कलेक्टर को सिफारिश भी की

विधायक अमृता मेघवाल ने गत दिनों स्वयं के लेटरपेड पर कलेक्टर को इस प्याऊ के निर्माण की सिफारिश भी की है। इससे यह तो स्पष्ट हो जाता है कि इस प्याऊ के निर्माण में विधायक अमृता मेघवाल या फिर उसके पति बाबूलाल की पूरी स्वीकृति है।

Audio :

बिना ईजाजत बनाई जा रही प्याऊ

भाजपा की सत्ता होने का यह मतलब नहीं कि कहीं भी कोई भी निर्माण किया जा सके। गंदे नाले की जमीन पर पार्षद हंसमुख नागर बिना नगर परिषद आयुक्त की स्वीकृति लिए प्याऊ बनवा रहा है। इधर, आयुक्त जिंदल इस निर्माण को रुकवाते हैं तो विधायक पति फोन करके काम शुरू करवाने का कहते हैं।

आखिर विधायक के पति को क्या अधिकार?

जालोर विधानसभा की विधायक अमृता मेघवाल है, जबकि उनके तकरीबन अधिकांश कार्यों में उसका पति बाबूलाल मेघवाल हस्तक्षेप करते हैं। प्याऊ के मामले में भी विधायक का पति आयुक्त को फोन कर कार्य शुरू रखने का दबाव बनाते हैं। ऐसे में सवाल यह उठता है कि आखिर विधायक कौन है? अमृता मेघवाल या फिर उसका पति बाबूलाल मेघवाल?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Page generated in 0.784 seconds. Stats plugin by www.blog.ca