धुम्बडिय़ा : स्टोर प्रभारी के घर मिला नि:शुल्क दवाइयों का स्टॉक, डॉक्टर कर रहा था बिजली चोरी

बागोड़ा @ अर्थ न्यूज नेटवर्क


चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के शासन सचिव और एनएचएम निदेशक नवीन जैन की ओर से शक्रवार को धुम्बडिय़ा पीएचसी का औचक निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान स्टोर प्रभारी के घर पर नि:शुल्क दवाइयों का स्टॉक मिला, जबकि रजिस्टर में ये दवाइयां मरीजों को वितरित की गई थी। वहीं डॉक्टर के घर पर भी बिजली चोरी का मामला सामने आया। जांच के दौरान अस्पताल में काफी अनियमितताएं सामने आईं। जिस पर निदेशक ने चिकित्साकर्मियों को जमकर लताड़ लगाई। इतना ही नहीं नाराज हुए निदेशक ने अस्पताल में पुलिस भी बुलवा ली।

 

दरअसल, निदेशक जैन शुक्रवार शाम को धुम्बडिय़ा पीएचसी पहुंचे। इस दौरान उन्होंने ओपीडी रजिस्टर की जांच की। ओपीडी रजिस्टर में गड़बड़ी नजर आने पर उन्हें संदेह हुआ। इस पर उन्होंने डॉक्टर और चिकित्साकर्मियों की मौजूदगी में ही गहनता से पड़ताल की तो मरीजों के पंजीयन में काफी गड़बड़ी सामने आई। इस दौरान उन्होंने स्टोर प्रभारी व डॉक्टर से इस सम्बंध में बात की लेकिन वे भी संतोषजनक जवाब नहीं दे पाए। जिस पर उन्होंने पंजीयन व दवाइयों का भौतिक सत्यापन कर स्टॉक का मिलान किया। लेकिन काफी असमानता मिली। इस दौरान उन्होंने स्टोर प्रभारी वचनाराम देवासी के आवासीय क्वार्टर की तलाशी ली। जहां सरकारी स्टॉक की दवाइयां मिली। जबकि स्टोर के रिकॉर्ड के मुताबिक ये दवाइयां मरीजों को वितरित दर्शाई गई थी।

 

समस्त रिकॉर्ड में कमियां, डॉक्टर के यहां बिजली चोरी

अस्पताल में चल रहे गड़बड़ी के इस खेल को देख निदेशक जैन काफी नाराज हुए। उन्होंने अस्पताल के समस्त रिकॉर्ड खंगाल डाले। जिसमें काफी अनियमितताएं सामने आईं। इस दौरान उन्होंने अस्पताल में पुलिस को भी बुलवा लिया। इस दौरान उन्होंने पीएचसी के डॉक्टर कैलाशदान चारण के क्वार्टर की जांच भी की। जहां एसी लगी नजर आई। जांच के दौरान यहां बिजली चोरी होना पाया गया। इस पर उन्होंने स्टाफ को खासी डांट पिलाई।

सख्त कार्यवाही की अटकलें

हालांकि सामने तक इस सम्बंध में पुख्ता सूचना नहीं मिल पाई कि दोषी डॉक्टर व स्टोर प्रभारी के खिलाफ निदेशक की ओर से क्या कार्रवाई की गई, लेकिन सूत्रों के हवाले से जांच में दोषी पाए गए सभी लोगों को निलम्बित किया जा सकता है या सख्त कार्रवाई की जा सकती है। लेकिन सामने तक भी इसकी कोई पुख्ता सूचना नहीं मिल पाई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Page generated in 1.810 seconds. Stats plugin by www.blog.ca