डिकॉय ऑपरेशन : जालोर के दो दलाल व गुजरात का एक डॉक्टर गिरफ्तार

जालोर. राज्य पीसीपीएनडीटी दल ने गुरुवार देर शाम गुजरात में बाड़मेर की महिला भ्रूण लिंग परीक्षण कराते जालोर के दो एजेंट व हिम्मतनगर जिले के खेड़ब्रह्म में डॉक्टर को गिरफ्तार किया। राज्य पीसीपीएनडीटी दल की यह गुजरात में तीसरी कार्यवाही है, जबकि पड़ोसी राज्यों में की गई कार्यवाही में यह सातवीं कार्यवाही है।
मिशन निदेशक एनएचएम एवं राज्य समुचित प्राधिकारी पीसीपीएनडीटी ने बताया कि अवैध भू्रण लिंग परीक्षण की सूचना प्राप्त होने पर डिकॉय ऑपरेशन की तैयारी की गई। इस दौरान बाड़मेर से गर्भवती महिला को डिकॉय के लिए तैयार किया गया। एजेन्ट भीनमाल निवासी मदन माली एवं आहोर निवासी भंवरसिंह गर्भवती महिला और सहयोगी महिला को लेकर भू्रण लिंग परीक्षण कराने के लिए हिम्मतनगर के लिए रवाना हुए। वे जालोर से बार-बार रास्ता बदलते हुए हिम्मतनगर जाने के बजाय खेड़ब्रह्म के प्रगति हॉस्पिटल में पहुंचे। जहां डॉ. गणेश पटेल की ओर से लिंग जांच कर शिशु का लिंग बताया गया और गर्भवती महिला को गर्भपात करवाने के लिए अलग से चार्ज लेने की बात कही गई। सहयोगी महिला से इशारा प्राप्त होते ही पीसीपीएनडीटी टीम ने तीनों व्यक्तियों को मौके पर ही दबोच लिया। उनसे हूबहू नोट बरामद कर लिए गए। मौके पर ही डॉ. गणेश पटेल से 24 हजार रुपए, दलाल मदन माली से 3 हजार एवं भंवरसिंह से 10 हजार रुपए बरामद किए गए।
स्त्री रोग विशेषज्ञ है डॉक्टर
जानकारी के अनुसार डॉ. गणेश पटेल एमडी डिग्रीधारी है एवं स्त्री रोग विशेषज्ञ है। प्रगति हॉस्पिटल गुजरात रजिस्ट्रर्ड सोनोग्राफी सेन्टर है। कार्यवाही में एजेंट मदन माली की बोलेरो गाडी को भी जब्त कर लिया गया। उन्होंने बताया कि बाड़मेर तथा जालोर से गर्भवती महिलाओं को गुजरात ले जाकर लिंग जांच करने की सूचना को पुख्ता करने के बाद एजेंट से लगातार सम्पर्क रखा गया। कई बार टालमटोल करने के बाद एजेन्ट 13 अक्टूबर को लिंग जांच कराने के लिए तैयार हुआ।
मिशन निदेशक ने इस कार्यवाही में सहयोग करने के लिए गुजरात के स्थानीय प्रशासन को धन्यवाद दिया। राज्य पीसीपीएनडीटी दल द्वारा यह गुजरात में तीसरी कार्यवाही तथा अब तक की 7वीं अन्तराज्यीय कार्यवाही है। शुक्रवार को लिंग जॉच में पकडे गये तीनों मुलजिमों को जालौर के पीसीपीएनडीटी कोर्ट में पेश कर रिमांड पर लिया गया।
टीम में यह रहे शामिल
कार्यवाही में राज्य पीसीपीएनडीटी टीम के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रघुवीरसिंह, पुलिस निरीक्षक हरिनारायण शर्मा, उप निरीक्षक देवेन्द्रसिंह व विक्रम सेवावत एवं क्राइम ब्रांच के हैड कांस्टेबल हनुमान सहाय व कांस्टेबल देवेन्द्रसिंह शामिल रहे। कार्यवाही में बाड़मेर तथा बीकानेर पीसीपीएनडीटी समन्वयक विक्रमसिंह एवं महेन्द्रसिंह ने भी सहयोग किया।
चिकित्सा मंत्री ने डिकॉय ऑपरेशन पर बधाई दी
डिकॉय ऑपरेशन पर चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री राजेन्द्र राठौड़ ने राज्यस्तरीय सतर्कता दल को बधाई दी है। साथ ही डिकॉय ऑपरेशन में सहयोग के लिए मुखबिर व सहयोगी महिला को धन्यवाद दिया। उन्होंने कन्या भू्रण हत्या पर रोक लगाने के लिए मुखबिर योजना के 104 नंबर पर टोल फ्री टेलीफोन पर गोपनीय जानकारी देने की भी अपील की है। मुखबिर योजना के तहत सफल डिकॉय ऑपरेशन कार्यवाही पर मुखबिर को प्रोत्साहन राशि के रूप में दो लाख रुपए की राशि प्रदान की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Page generated in 0.755 seconds. Stats plugin by www.blog.ca