बड़ा फैसला : भारतीय सेना 82 हजार करोड़ के टैंक और फाइटर प्लेन खरीदेगी

भारतीय सीमा पर दिनों दिन बढ़ती पाकिस्तान और चीन की गहमागहमी के बीच केंद्र सरकार ने अब तक सबसे बड़ा फैसला लिया है। रक्षा मंत्रालय ने आज सेना को 82 हजार करोड़ रुपए के सामान खरीदने की मंजूरी दे दी है। देश की रक्षा व्यवस्था को पुख्ता करने के लिए सरकार ने यह बड़ा अहम कदम उठाया है। रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर की अध्यक्षता में डीसीए में हुई बैठक में इसके अलावा भी कई अहम फैसले लिए गए है।

करेंगे तेजस विमानों की खरीद

डीएसी ने वायुसेना के लिए अहम फैसला लेते हुए भारत में बनने वाले 83 तेजस विमानों की खरीद को मंजूरी दी है। इन 83 लड़ाकू विमानों की तकरीबन कुल कीमत 50025 करोड़ रुपए होगी। इसके साथ साथ सेना और इंडियन एयर फोर्स के लिए 15 हल्के लड़ाकू विमानों की खरीद को भी मंजूरी मिल गई है। इनका निर्माण मेक इन इंडिया के तहत देश में ही किया जाएगा। इस सौदे की लागत 2911 करोड़ रुपये होगी।

थल सेना भी होगी मजबूत

t-90tanks

बैठक में थल सेना को भी मजबूती देने के लिए रूस में विकसित टी-90 टैंकों के अधिग्रहण को भी मंजूरी दी गई है। इस मंजूरी के मुताबिक ये टैंक भी भारत में ही बनाए जाएंगे। इन टैंको में 464 टी-90 टैंक खरीदने पर 13448 करोड़ रुपए खर्च होंगे। उसके साथ 598 छोटी एसयूवी खरीदने की भी मंजूरी दी है। वहीं थलसेना के लिए ही 14,633 करोड़ रूपये के 6 अतिरिक्त पिनाका मिसाइल की रेजीमेंट को मंजूरी दी गई है।

राफेल सौदा को भी मिल चुकी है हरी झंडी

rafeljet

करीब 16 महीने पहले पीएम मोदी ने फ्रांस दौरे के समय 36 राफेल लड़ाकू विमान खरीदने की भारत की योजना का ऐलान किया था। इस ऐलान के बाद से राफेल के भारत आने इंतजार था अब इस सौदे के बाद इस लड़ाकू विमान की खरीद पर संप्रग सरकार के दौर में रही कीमत की तुलना में करीब 75 करोड़ यूरो बचाए जा सकेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Page generated in 0.677 seconds. Stats plugin by www.blog.ca