बाबा राम रहीम को दस साल की सजा, अब बाबा की पहचान कैदी नम्बर 1997…

अर्थ न्यूज नेटवर्क


साध्वी से दुष्कर्म के मामले में सीबीआई की स्पेशल कोर्ट ने डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम को सोमवार को दस साल की सजा सुनाई। सजा सुनाने के बाद बाबा कोर्ट में रोने लग गया। इधर, सुनवाई से पहले ही रोहतक व सिरसा में कफ्र्यू लगाया गया। गौरतलब है कि 25 अगस्त को साध्वी से दुष्कर्म मामले में बाबा को दोषी ठहराया गया था। इसके बाद हरियाणा व पंजाब सहित पांच राज्यों में डेरा समर्थकों ने हंगामा किया था। हिंसा व आगजनी में अब तक करीब 45 लोगों की मौत भी हो चुकी है।

 

बाबा राम रहीम को 25 अगस्त को दुष्कर्म मामले में दोषी ठहराया गया था। इसके बाद उनके समर्थकों की ओर से हिंसा को देखते हुए कानून व्यवस्था के मद्देनजर सुनारिया जेल की लाइब्रेरी में कोर्ट लगाई गई थी। करीब एक घंटे तक चली सुनवाई में बाबा के वकील ने कोर्ट में बाबा को सामाजिक कार्यकर्ता बताते हुए सजा कम करने की दलील भी दी। लेकिन सीबीआई ने अधिकतम सजा देने की अपील की। इस दौरान कोर्ट में बाबा हाथ जोड़कर खड़ा रहा। इधर, कोर्ट में सुनवाई से पहले राम रहीम का मेडिकल चेकअप किया गया। सजा सुनाने के बाद भी उसका चेकअप किया गया। मेडिकल रिपोर्ट के मुताबिक बाबा पूरी तरह स्वस्थ है। माना जा रहा है कि बाबा राम रहीम हाईकोर्ट में अपील कर सकता है।

सुनवाई के दौरान हिंसा

बाबा को सजा सुनाने के लिए जेल में ही कोर्ट लगाई गई थी, लेकिन सुनवाई के दौरान भी सिरसा के फूल्का गांव में डेरा समर्थकों ने दो कारों में आग लगा दी। हालांकि सरकार ने शूट एट साइट का आदेश जारी कर रखा था। सुनारिया जेल परिसर के आसपास किसी भी व्यक्ति के बिना अनुमति नजर आने पर गोली मारने के आदेश थे। वहीं सुनारिया जेल के बाहर सेवन लेयर सुरक्षा का इंतजाम किया गया था। करीब पांच किलोमीटर तक पुलिस व सुरक्षा बलों का पहरा था। वहीं रोहतक में पैरामिलिट्री फोर्स की 23 कम्पनियां तैनात की गई थी। इसके अलावा हरियाणा सरकार ने सुबह साढ़े ग्यारह बजे तक इंटरनेट व डाटा सर्विसेस को प्रतिबंध कर दिया था। वहीं पंचकूला, रोहतक, कैथल व अम्बाला में सोमवार को सभी स्कूल -कॉलेज बंद किए गए थे। जबकि अम्बाला में धारा १४४ लगाई गई थी।

 

 

पंजाब व हरियाणा सीएम ने ली बैठक

इधर, हरियाणा सीएम मनोहरलाल खट्टर ने चंडीगढ़ में अपने आवास पर वरिष्ठ अधिकारियों, मंत्रियों व पार्टी नेताओं की बैठक ली। इसी तरह पंजाब के सीएम अमरिंदरसिंह ने राम रहीम को सजा सुनाने से पहले चंडीगढ़ में डीजीपी, मुख्य सचिव एवं वरिष्ठ अधिकारियों के साथ रिव्यू मिटिंग ली।

यह है मामला

डेरा प्रमुख राम रहीम पर चल रहा यौन शोषण का मामला पंद्रह साल पहले का है। अपे्रल 2002 में एक साध्वी ने पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट और तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को शिकायत भेजी थी। मई 2002 में इस शिकायत की जांच की जिम्मेदारी सिरसा के सेशन जज को सौंपी गई। इसके बाद दिसंबर 2002 में सीबीआई ब्रांच ने राम रहीम पर धारा 376, 506 और 509 के तहत केस दर्ज किया। दिसंबर 2003 में सीबीआई को जांच के निर्देश दिए गए। वर्ष 2005-2006 के बीच में सतीश डागर ने इन्वेस्टिगेशन की और उस साध्वी को ढूंढा जिसका यौन शोषण हुआ था। इसके बाद जुलाई 2007 में सीबीआई ने अंबाला सीबीआई कोर्ट में चार्जशीट फाइल की। यहां से केस पंचकूला शिफ्ट हो गया और बताया गया कि डेरे में 1999 और 2001 में कुछ और साध्वियों का भी यौन शोषण हुआ, लेकिन वे मिल नहीं सकीं। अगस्त 2008 में ट्रायल शुरू हुआ और डेरा मुखी के खिलाफ चार्ज तय किए गए। इसके बाद वर्ष 2011 से 2016 तक ट्रायल चला। डेरा मुखी की ओर से अपीलें दायर हुईं। जुलाई 2016 में केस के दौरान 52 गवाह पेश हुए। इनमें 15 प्रॉसिक्यूशन और 37 डिफेंस के थे। वहीं जून 2017 में डेरा प्रमुख ने विदेश जाने के लिए अपील दायर की तो कोर्ट ने रोक लगा दी। 25 जुलाई 2017 कोर्ट ने रोज सुनवाई करने के निर्देश दिए ताकि केस जल्द निपट सके। 17 अगस्त 2017 को बहस खत्म हुई। आखिरकार 25 अगस्त को कोर्ट ने राम रहीम को दोषी करार दिया। वहीं 28 अगस्त को कोर्ट ने बाबा को दस साल की सजा सुनाई।

तलाशी में मिली लड़कियां व हथियार

इस बीच, प्रशासन की ओर से डेरे की तलाशी ली गई। जिसमें डेरे से 29 लड़कियां, 40 बच्चे व हथियार मिले हैं। जानकारी के अनुसार डेरे के अनाथालय से प्रशासन को 40 बच्चे मिले, जिन्हें बाल आश्रम भेजा गया है। वहीं शाही बेटियों के बसेरे से 29 लड़कियां मिली है। प्रशासन की ओर से डेरे को खाली करवाया जा रहा है। सजा सुनाने के बाद पुलिस ने सिरसा स्थित डेरे की तलाशी ली, जिसमें बड़ी तादाद में हथियार बरामद हुए थे।

यह खबरें भी पढि़ए…

  1. अब जवाई नदी में आ रहा इतना पानी, जानकर आप भी रह जाएंगे हैरान…
  2. Video : नोसरा थाने की गाड़ी पलटी, एसएचओ निरमा बिश्नोई सहित तीन घायल
  3. पीएम मोदी के दौरे को लेकर अब कर्मचारियों की गोपनीय रणनीति, भूमिगत होकर कर रहे काम…
  4. पीएम मोदी के दौरे को लेकर चेती सरकार, मंत्री को भेज की समझौता वार्ता, धरना समाप्त
  5. खुले पैसों को लेकर दो पक्षों में विवाद, मारपीट के बाद रिक्शे में डालकर फेंक दिया उम्मेदपुर
  6. जवाई पुलिया से गुजरते समय गिरी आकाशीय बिजली, एक युवक की मौत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Page generated in 0.717 seconds. Stats plugin by www.blog.ca