आसाराम दीपावली भी जेल में मनाएंगे, जमानत याचिक खारिज

अर्थ न्यूज नेटवर्क

जोधपुर के सेंट्रल जेल में बंद आसाराम की अंतरिम जमानत याचिका सोमवार को खारिज कर दी है। इस मामले की अगली सुनवाई 21 नवंबर को होगी। आसाराम ने अपने स्वास्थ्य का हवाला देते हुए जमानत याचिका की गुहार लगाई थी। हालांकि आसाराम को जोधपुर एम्स से इलाज की अनुमति मिल गई है। आसाराम की नौंवी याचिका भी खारिज हो गई है।

Must Read : मालगाड़ी की चपेट में आई कार के परखच्चे उड़े, तीन युवक बाल-बाल बचे

आसाराम ने अपने स्वास्थ्य के लिए जमानत याचिका लगाई थी, जिसके लिए सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली एम्स में एक मेडिकल बोर्ड का गठन किया था। बोर्ड ने 3 अक्टूबर को शीर्ष अदालत से कहा था कि आसाराम की हालत अब स्थिर है। जस्टिस एके सीरवी और एन वी रमन की खण्डपीठ को पेश की गई रिपोर्ट में सात सदस्यों के मेडिकल बोर्ड ने लिखा कि आसाराम ने स्वास्थ्य के लिए की जा रही जांचों के लिए मना कर दिया था। वहीं 11 अगस्त को उच्चतम न्यायालय ने आसाराम को जमानत देने से इंकार कर दिया। दिल्ली एम्स को एक मेडिकल बोर्ड गठित करने के आदेश आसाराम के स्वास्थ्य जांच की रिपोर्ट पेश करनी थी। आसाराम ने इसी आधार पर जमानत के लिए दायर याचिका पर सुनवाई होनी थी। राजस्थान हाईकोर्ट ने आसाराम की जमानत याचिका ये कहते हुए खारिज कर दी थी कि ये मामला अब निष्कर्ष तक पहुंचने वाला है और ऐसे में जमानत देना उचित नहीं है। आसाराम की ये नौंवी जमानत याचिका खारिज हुई है।

Must Read : 17 जगह एक साथ चोरी की वारदता का राजफाश, पांच शातिर गिरफ्तार

जोधपुर में २०१३ में स्थित आश्रम की एक नाबालिग लडक़ी ने आसाराम पर यौन उत्पीडऩ के आरोप लगाए थे, जिसके बाद 31 अगस्त 2013 को पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार किया। तब से आरोपी आसाराम जोधपुर सेंट्रल जेल में ही है। वकील ने ये कहते हुए जमानत याचिका दायर की थी कि वे एक साथ कई बीमारियों से ग्रसित हैं और उन्हें स्वास्थ्य जांच व उपचार के लिए जमानत दी जानी चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Page generated in 0.690 seconds. Stats plugin by www.blog.ca